गुस्ताख़ी माफ़

गुस्ताख़ी माफ़ 14.7.2024   बाई इलेक्शन जीत कर, दिल है बाग़ो-बाग़। राहुल भैया के लगे, भाग रहे हैं जाग। भाग रहे हैं जाग, निकट अब लगती सत्ता। ममता दीदी मगर, पलट ना डालें पत्ता। कह साहिल कविराय, बड़े दीदी के सपने। एंटी मोदी सभी, नहीं राहुल जी अपने।   प्रस्तुति — डॉ. राजेन्द्र साहिल

गुस्ताख़ी माफ़

गुस्ताख़ी माफ़ 12.7.2024   अमरीका नाराज़ है, जलन हो रही घोर। आंख-मटक्का रूस से, करते हो उस ओर। करते हो उस ओर, इधर हम को टरकाते। देते हम भी फूल, अगर अमरीका आते। कह साहिल कविराय, लगाते माथे टीका। रूस-वूस क्या चीज़, यार पक्का अमरीका।   प्रस्तुति — डॉ. राजेन्द्र साहिल

American Woman Buys Fake Jewelry for Millions in India

In a strange series of events, an American woman going to India spent a massive six crore rupees on what she believed was authentic jewelry, only to realize after the fact that all of it was fake. The incident has left many dumbfounded and gives a hard lesson on the need for vigilance when making … Read more